गजानन बुवा चिकनकर को आखिरकार उसकी 80 वर्षीय पत्नी की पिटाई के बाद हथकड़ी लगा दी गई

गजानन बुवा चिकनकर को आखिरकार उसकी 80 वर्षीय पत्नी की पिटाई के बाद हथकड़ी लगा दी गई है।

हिललाइन पुलिस ने 85 वर्षीय एक व्यक्ति को उसकी बुजुर्ग पत्नी से मारपीट करने के आरोप में गिरफ्तार किया है. आरोपी का नाम गजानन बुवा चिकनकर है। सोशल मीडिया पर इससे जुड़ा एक वीडियो वायरल होने के बाद आरोपी गजानन बुवा के खिलाफ कार्रवाई की मांग बढ़ गई थी। इस मांग ने पुलिस पर सामाजिक दबाव बढ़ा दिया था। आखिरकार हिललाइन पुलिस ने आरोपी सु मोटो के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया। उन्होंने एक दल अलंदी भी भेजा। उसके बाद पुलिस ने आखिरकार आरोपी गजानन बुवा चिकनकर को हथकड़ी लगा दी (पुलिस ने उसकी 80 वर्षीय पत्नी को पीटने वाले 85 वर्षीय व्यक्ति को गिरफ्तार कर लिया).

आख़िर मामला क्या है?

घर में पानी के विवाद को लेकर 85 वर्षीय एक व्यक्ति द्वारा अपनी 80 वर्षीय पत्नी की पिटाई का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है। इस्मा का नाम गजानन बुवा चिकनकर है। घटना 31 मई की है। गजानन बुवा के 13 साल के पोते ने इससे जुड़ा एक वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर शेयर किया. इसके बाद वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। वीडियो वायरल होने के बाद कई लोगों ने नारधम के बुजुर्ग पति के खिलाफ कार्रवाई की मांग की. पुलिस पर बढ़ते सामाजिक दबाव के चलते सु मोटो ने गजानन बुवा चिकनकर (80 वर्षीय पत्नी को पीटने वाले 85 वर्षीय व्यक्ति को गिरफ्तार किया) के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

बुजुर्ग महिला के पति के खिलाफ शिकायत दर्ज करने से इंकार

पुलिस ने संबंधित वीडियो वायरल होने के बाद बुजुर्ग से मिलने और शिकायत दर्ज करने की सलाह दी थी। हालांकि बुढ़िया ने कहा कि उनके पति गजानन बुवा चिकनकर के खिलाफ कोई शिकायत नहीं है. आखिरकार पुलिस ने सामाजिक दबाव को देखते हुए सु मोटो के साथ मारपीट का मामला दर्ज कर लिया। गजानन बुवा चिकनकर आलंदी गए थे। इसलिए पुलिस की एक टीम अलंदी के लिए रवाना हुई थी। उसके बाद यह पता चला है कि पुलिस ने आरोपी को हथकड़ी लगा दी है।

वायरल वीडियो में आख़िर क्या हुआ था?

घटना कल्याण पूर्व के द्वारली गांव की है। यह गांव अंबरनाथ तालुका के अंतर्गत आता है। गांव कल्याण के पूर्व में मलंगगढ़ रोड पर प्रसिद्ध चक्की नाका से कुछ किलोमीटर दूर है। इस गांव में गजानन बुवा चिकनकर अपने परिवार के साथ रहते हैं। इस वृद्ध पर घर के अन्य सदस्यों ने भी हमला किया है। खास बात यह है कि यह बूढ़ा खुद को एचबीएचपी मानता है। लेकिन वह अपने ही घर में महिलाओं के साथ बहुत कठोर व्यवहार करता है। घर में दहशत का माहौल होने के कारण घर की अन्य महिलाएं उसे पीटने से रोकने के लिए आगे नहीं आईं। महिला को पीटने के दौरान परिवार के अन्य सदस्य भी उसे बचाने के लिए आगे नहीं आए इसलिए सोशल मीडिया पर उनकी भी जमकर आलोचना हो रही है.

Leave a Comment

%d bloggers like this: